Monday, 13 June 2016

new funny jokes

संता- यार शादी के जोड़े कौन बनाता है?
,
,
,
बंता - भगवान बनाता है?
,
,
,
,
,
संता - ओ तेरी की,
,
मै तो दर्जी को दे आया...
😜
गुरु जी:
कर्मण्येवाधिकारस्ते मां फलेषु कदाचन।।
सन्ता, इसका अर्थ बता?

सन्ता –
काम नही होने से
राधिका रस्ते पर घूम रही है
कदाचित उसे फल खरीदने होंगे!

😛😂😂😂😆

गुरूजी :
बहूनि मे व्यतीतानि जन्मानि तव चार्जुन!
इसका क्या अर्थ है ?

सन्ता : मेरे अनेक जन्म हो चुके है पर तेरा जन्म चार जून को हुआ हे !

😜😝😎

गुरूजी : अरे मूर्ख…चल अब बता..
“दक्षिणे लक्ष्मणोयस्य वामे तु जनकात्मजा” का क्या अर्थ है?

सन्ता : दक्षिण की ओर से आकर लक्ष्मण बोला.. जनक… तुम्हारा तो मजा है !

😂😝😜😆

गुरूजी- चल इसका अर्थ ही बता दे
” हे पार्थ त्वया चापि मम चापि…!”

सन्ता- हे अर्जुन तुम भी चाय पियो मैं भी चाय पीता हूँ।

😛😛

गुरूजी अभी तक कोमा में हैं।

No comments:

Post a Comment